संकुचित सोच के कारण हमेशा तुष्टिकरण की राह पकड़ लेते हैं दिग्विजय सिंह: विजयवर्गीय

भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय। फोटो स्रोतः फेसबुक पेज।
भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय। फोटो स्रोतः फेसबुक पेज।

इंदौर/भाषा। राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह की सोच को ‘नकारात्मक और संकुचित’ बताते हुए भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस नेता हमेशा तुष्टिकरण की राजनीति की राह पकड़ लेते हैं और वह व्यापक हिंदू दर्शन को कभी समझ नहीं सकेंगे।

विजयवर्गीय ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘हिंदू दर्शन बहुत व्यापक है। सिंह को यह कभी समझ नहीं आएगा क्योंकि उनकी सोच नकारात्मक और संकुचित है। इसलिए वे हमेशा तुष्टिकरण की तरफ जाते हैं।’

सिंह ने अपने एक ट्वीट में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा है- ‘एक सिक्के के दो पहलू!’

इस ट्वीट के बारे में प्रतिक्रिया मांगे जाने पर विजयवर्गीय ने कहा, ‘सिंह के विचार हमेशा से नकारात्मक रहे हैं। भागवत ने हाल ही में जो बातें कही हैं, वे वसुधैव कुटुम्बकम के उस विचार के दृष्टिकोण से कहीं प्रेरित हैं जो हमारे देश की पहचान है।’

भाजपा सांसद नंद कुमार सिंह चौहान के निधन से खाली खंडवा लोकसभा सीट के आगामी उप चुनाव में इस पार्टी की ओर टिकट के दावेदारों के कयास में विजयवर्गीय का नाम भी लिया जा रहा है। लेकिन वह अपने बयानों में इस सीट से उप चुनाव लड़ने में लगातार अनिच्छा जता रहे हैं।

इस अनिच्छा का कारण पूछे जाने पर भाजपा महासचिव ने कहा, ‘किसी भी सीट पर अपने उम्मीदवार की घोषणा करना पार्टी का निर्णय होता है। वैसे भी मैं इंदौर में रहता हूं। मैं (चुनाव लड़ने) खंडवा क्यों जाऊंगा?’

मध्य प्रदेश में विपक्षी कांग्रेस द्वारा 16 से 20 साल के लोगों के लिए ‘बाल कांग्रेस’ के गठन की तैयारी की खबरों पर उन्होंने कहा, ‘बच्चों पर किसी भी राजनीतिक दल से जुड़ने का दबाव डालने की कोई आवश्यकता नहीं है। उन्हें खेलने-कूदने देना चाहिए। जब वे बड़े होकर सोचने-समझने में सक्षम हो जाएंगे, तो अपनी पसंद का राजनीतिक दल खुद चुन लेंगे।’

मीडिया के साथ बातचीत से पहले, विजयवर्गीय शहर के नंदा नगर क्षेत्र में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) के 500 बिस्तरों वाले आदर्श अस्पताल के निर्माण कार्य की औपचारिक शुरुआत के कार्यक्रम में शामिल हुए।