नए संसद भवन के शिलान्यास कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
नए संसद भवन के शिलान्यास कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भूमि पूजन कर नए संसद भवन की आधारशिला रखी। इस अवसर पर सर्वधर्म प्रार्थना की गई। इसके लिए हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध, जैन एवं विभिन्न धर्मों के गुरु मौजूद थे। कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एवं कई सांसद,  अधिकारी और कई देशों के राजदूत मौजूद थे।

ऐसा होगा नया संसद भवन
यह संसद भवन चार मंजिला होगा। इसका निर्माण कार्य स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ तक संपन्न होने की संभावना है। इस भवन के निर्माण की अनुमानित लागत 971 करोड़ रुपए है। इसका क्षेत्रफल करीब 64,500 वर्ग मीटर होगा।

नए संसद भवन में लोकसभा कक्ष में 888 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी। वहीं, संयुक्त सत्र जैसे अवसरों पर यहां 1,224 सदस्य बैठ सकेंगे। भवन के राज्यसभा कक्ष में 384 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की जाएगी।

नया संसद भवन लोकतंत्र और राष्ट्रीय गौरव का प्रतीक होगा। यह विविधता में एकता और गौरवशाली इतिहास को अभिव्यक्त करेगा। इससे सटी त्रिकोणीय आकार की नई इमारत सुरक्षा व्यवस्थाओं के लिहाज से महत्वपूर्ण होगी। मौजूदा लोकसभा से नई लोकसभा का आकार तीन गुना बड़ा होगा। साथ ही, राज्‍यसभा के आकार में भी बढ़ोतरी की जाएगी।

नया संसद भवन आधुनिक दृश्य-श्रव्य संचार सुविधाओं एवं डेटा नेटवर्क प्रणालियों से लैस होगा। इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि निर्माण कार्य के समय पर्यावरण संबंधी मानकों का पालन हो और संसद का सत्र चल रहा हो तो कम से कम व्यवधान हो।