नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद अशोक गस्ती
नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद अशोक गस्ती

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद और कर्नाटक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता अशोक गस्ती का गुरुवार को निधन हो गया। उन्हें कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद बेंगलूरु के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी तबीयत बिगड़ गई थी।

इससे पहले, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा था कि राज्यसभा सांसद की स्थिति गंभीर है। उन्होंने कर्नाटक सरकार और अस्पताल से बात की थी। बता दें कि भाजपा नेता ने 22 जुलाई को बतौर राज्यसभा सांसद शपथ ली थी।

अशोक गस्ती को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद बेंगलूरु के मणिपाल अस्पताल में 2 सितंबर को भर्ती कराया गया था। घटनाक्रम से परिचित लोगों ने कहा कि सांसद पिछले कुछ दिनों से सांस लेने में तकलीफ से जूझ रहे थे और वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे।

सांसद गस्ती 2012 में कर्नाटक पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष भी रहे थे। पेशे से वकील रहे गस्ती को कर्नाटक के रायचूर जिले में भाजपा की जड़ें जमाने का श्रेय दिया जाता है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक सदस्य के अलावा वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) में बतौर कार्यकर्ता जुड़कर आगे बढ़ते रहे।

जब वे 18 साल के थे तब भाजपा से जुड़े और कर्नाटक भाजपा के युवा मोर्चा के अध्यक्ष बने।