सावधानी को बनाएं सुरक्षा कवच, चेन्नई के इन इलाकों में पांव पसार रहा कोरोना

फोटो स्रोत: PixaBay
फोटो स्रोत: PixaBay

चेन्नई/दक्षिण भारत। चेन्नई के कम से कम दर्जनभर इलाके ऐसे हैं जहां कोरोना के 50 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। इनमें किलपॉक में आईएमएच स्ट्रीट, अयानवरम में कोन्नूर हाई रोड, किलपॉक में बरक्का रोड और मोगापेयर एरी स्कीम जैसी जगह शामिल हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, लोगों द्वारा सावधानी का पालन नहीं करने से हाल में कोरोना के मामले बढ़े हैं। इनमें आईएमएच स्ट्रीट में कोरोना मरीजों की संख्या 82 बताई गई है। इसी प्रकार पुडुपेट्टई में 75, कोन्नूर हाई रोड में 72 लोग संक्रमित हैं।

इस संबंध में 13 मई तक जारी आंकड़े बताते हैं कि शहर में ऐसे 983 इलाके हैं जहां 10 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इसकी वजह से अन्य लोगों में भी संक्रमण की आशंका बढ़ गई जिसके कारण बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है।

क्या कहते हैं आंकड़े?
आंकड़ों के अनुसार, 136 इलाके ऐसे हैं जहां 20-29 मामले, 44 इलाके ऐसे जहां 30-39 मामले सामने आए हैं। कुछ इलाकों में यह संख्या तुलनात्मक रूप से ज्यादा है। यहां आधा दर्जन इलाके ऐसे हैं जहां 50-59 मामले सामने आए हैं।

दूसरी ओर तीन इलाकों में कोरोना संक्रमितों की संख्या 60-69, दो में 70-79 तक पहुंच गई। हालांकि आईएमएच स्ट्रीट में 82 मामले हैं। थेनमपेट में 10 से अधिक मामलों के साथ सड़कों की संख्या सबसे ज्यादा है।

यहां ऐसा हाल
अन्ना नगर में 81 सड़कें ऐसी हैं जहां 10 से अधिक सक्रिय मामले हैं, लेकिन तीन सड़कें ऐसी हैं जहां 50 से अधिक मामले सामने आए हैं। अन्ना नगर 4,598 संक्रमितों के साथ सबसे अधिक सक्रिय मामलों वाला क्षेत्र है।

मध्य चेन्नई में कोडंबक्कम ज़ोन में 10 से अधिक मामलों के साथ ऐसी सड़कों की दूसरी सबसे बड़ी तादाद है। हालांकि, इसमें 50 से अधिक मामलों वाली एक भी सड़क नहीं है। इसके अधिकांश नियंत्रण क्षेत्रों में केवल 10-19 मामले हैं। कोडंबक्कम में शहर में दूसरे सबसे अधिक सक्रिय मामले 4,214 हैं। शहर में केवल एक क्षेत्र में 1,000 से कम सक्रिय मामले हैं। मनाली में कोरोना के 806 मामले हैं।