कोरोना पर प्रहार के लिए बेंगलूरु में और कड़े कदमों की जरूरत? स्वास्थ्य मंत्री ने दिया यह बयान

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर। फोटो स्रोत: ट्विटर अकाउंट।
कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर। फोटो स्रोत: ट्विटर अकाउंट।

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी के बीच राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर ने बेंगलूरु में और कड़े कदम उठाए जाने की जरूरतों पर जोर दिया है, जिसके बाद यहां लॉकडाउन के कयास लगाए जा रहे हैं। हालांकि सरकार की ओर से लॉकडाउन जैसी कोई घोषणा नहीं की गई है, इसलिए किसी भी प्रकार की अफवाह से बचना चाहिए।

बता दें कि मंत्री सुधाकर ने उक्त बात यहां एक अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा से मुलाकात के बाद कही। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘बेंगलूरु में और कड़े कदमों की जरूरत है। यह मेरी स्पष्ट राय है और इस बारे में मुख्यमंत्री को भी बताया जाएगा।’

जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्होंने लॉकडाउन से संबंध में येडियुरप्पा से बात की, इस पर उन्होंने कहा, ‘मैंने उनसे इस बारे में बात की है। कल सर्वदलीय बैठक के बाद मुख्यमंत्री कड़े कदमों की वकालत कर सकते हैं।’

कर्नाटक में सोमवार को इस संबंध में सर्वदलीय बैठक प्रस्तावित है। मुख्यमंत्री येडियुरप्पा की अध्यक्षता में पहले यह बैठक रविवार को प्रस्तावित थी। उनके अस्पताल में भर्ती होने के कारण अब सोमवार को राजस्व मंत्री आर. अशोक की अध्यक्षता में बैठक होगी।

मंत्री सुधाकर ने बताया कि बैठक इसलिए बुलाई गई है ताकि महामारी से निपटने के लिए समन्वय के साथ सभी के सुझाव लिए जा सकें। उन्होंने लॉकडाउन को एकमात्र समाधान मानने से इन्कार करते हुए कहा कि सभी के विचार जानने के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा।