आरोपी डॉक्टर अब्दुर रहमान
आरोपी डॉक्टर अब्दुर रहमान

– आरोपी अब्दुर रहमान से अज्ञात स्थान पर हुई पूछताछ
– एमएस रामैया मेडिकल कॉलेज से गिरफ्तार किया
– आतंकियों के इलाज के लिए सीरियाई मेडिकल कैंप का दौरा किया

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इस्लामिक स्टेट ऑफ सीरिया एंड इराक (आईएसआईएस) जैसे घृणित आतंकी गिरोह से जुड़े होने के आरोप में 28 वर्षीय नेत्र चिकित्सक और जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर को सोमवार रात बेंगलूरु के एमएस रमैया मेडिकल कॉलेज से गिरफ्तार किया है।

मंगलवार को यहां जारी एनआईए की विज्ञप्ति के अनुसार, बेंगलूरु के बसवनगुड़ी निवासी अब्दुर रहमान ने पूछताछ के दौरान कथित रूप से कबूल किया कि वह सीरिया में इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रांत (आईएसपीके) और अन्य आईएसआईएस गुर्गों से संबंधित गतिविधियों में शामिल था। एनआईए ने कहा कि अब्दुर रहमान आईएसआईएस के लड़ाकों के लिए संघर्ष क्षेत्रों में आईएसआईएस के गुर्गों की मदद करने के लिए एक चिकित्सकीय मोबाइल ऐप विकसित कर रहा था।

अब्दुर रहमान की गिरफ्तारी इस साल मार्च में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा दर्ज मामले से जुड़ी है। डीएससी ने इस मामले में दिल्ली के जामिया नगर के ओखला विहार से मार्च में एक कश्मीरी दंपति जहांजैब सामी वानी और उसकी पत्नी हिना बशीर बेग को गिरफ्तार किया था। यह दंपति कथित रूप से आतंकी गिरोह आईएसकेपी और आईएसआईएस से जुड़ा था।

एनआईए ने दावा किया कि दंपति विध्वंसक और राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल था। दोनों पति-पत्नी अब्दुल्ला बासित के संपर्क में थे, जो इस समय आईएसआईएस अबू धाबी मॉड्यूल की हरकतों में कथित संलिप्तता के लिए तिहाड़ जेल में है। दंपति की गिरफ्तारी के बाद यह मामला एनआईए को सौंप दिया गया था और इस साल जुलाई में एनआईए ने पुणे के दो निवासियों सादिया अनवर शेख और नबील सिद्दीकी खत्री को आईएसकेपी से कथित संबंध रखने के लिए गिरफ्तार किया था।

सूत्रों ने बताया कि अब्दुर रहमान की गिरफ्तारी के बाद एनआईए ने कथित रूप से बेंगलूरु के एक अज्ञात स्थान पर उससे पूछताछ की। एनआईए ने एक बयान में कहा, पूछताछ में पता चला कि उसने वर्ष 2014 की शुरुआत में आईएसआईएस आतंकियों के इलाज के लिए सीरिया में आईएसआईएस के एक मेडिकल कैंप का दौरा किया था और 10 दिनों तक इस्लामिक स्टेट के गुर्गों के साथ रह कर लौटा था।

एनआईए ने अब्दुर रहमान से जुड़े तीन स्थानों पर उसकी गिरफ्तारी के लिए तलाशी और जब्ती अभियान भी चलाया और डिजिटल डिवाइस, मोबाइल फोन और एक लैपटॉप जब्त किया। एनआईए ने कहा, गिरफ्तार किए गए आरोपियों को नई दिल्ली में एनआईए की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा और उनकी हिरासत के लिए एनआईए रिमांड मांगी जाएगी।