सियोल/एएफपी। उत्तर कोरिया ने समुद्र की ओर मंगलवार को कई संदिग्ध क्रूज मिसाइलें दागी। दक्षिण कोरिया की सेना ने यह जानकारी दी। ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने एक बयान में कहा कि देश के पूर्वी हिस्से से मुनचोन से ‘कई प्रक्षेपास्त्र’ दागे गए जो कम दूरी की क्रूज मिसाइलें मालूम हो रही हैं।

इस परीक्षण से एक दिन पहले परमाणु संपन्न उत्तर कोरिया ने मौजूदा नेता किम जोंग उन के दादा और देश के संस्थापक किम द्वितीय सुंग की 108वीं वर्षगांठ मनाई थी। इसके अलावा एक दिन पहले ही दक्षिण कोरिया में संसदीय चुनाव हुए थे और विश्व का ध्यान मुख्यत: कोरोना वायरस वैश्विक महामारी पर केंद्रित है जिसके बारे में प्योंगयांग का कहना है कि वह अब तक इससे बचा हुआ है।

हाल के कुछ वर्षों में उत्तर कोरिया ने कई बार बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया है। ये पृथ्वी से काफी ऊंचे उठकर अक्सर अंतरिक्ष तक जाती हैं और उसके बाद गुरुत्वाकर्षण शक्ति के चलते बहुत तेज गति से अपने लक्ष्य की ओर बढ़ती हैं। इसके शस्त्र भंडार में आईसीबीएम (अंतर्महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलें) शामिल हैं जो पूरे अमेरिकी भूभाग तक पहुंचने में सक्षम हैं।

वहीं इसके उलट क्रूज मिसाइलें सतह से कुछ ही मीटर ऊपर तक जाती हैं जिनका पता लगाना मुश्किल होता है। कई बार ये लगातार स्थान परिवर्तित करते रहते हैं और उन्हें अपने लक्ष्य तक पहुंचाने के लिए परिष्कृत निर्देशित प्रणाली की जरूरत पड़ती है।

ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने बताया कि मंगलवार को ये मिसाइलें पूर्वी सागर के तौर पर प्रसिद्ध जापान सागर के ऊपर दागी गईं जो बाद में पानी में गिर गईं। उन्होंने कहा, दक्षिण कोरिया और अमेरिकी खुफिया अधिकारी संबंधित मुद्दों का करीबी विश्लेष्ण कर रहे हैं।