कोरोना काल में दुनिया के लिए मददगार बनकर उभरा भारत, मालदीव के विदेश मंत्री ने खूब सराहा

प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने कोरोना महामारी से मुकाबले के लिए विभिन्न देशों को वैक्सीन मुहैया कराने पर भारत की कोशिशों को सराहा है। उन्होंने कहा कि यह इसका एक शानदार उदाहरण है कि बहुपक्षवाद और ‘वैश्विक गांव’ के विचार को किस तरह से क्रियान्वित करना चाहिए।

यहां रायसीना संवाद में ‘बियॉन्ड कोविड: ग्लोबल पब्लिक हेल्थ आफ्टर द पैंडेमिक’ नामक परिचर्चा के सत्र को संबोधित करते हुए शाहिद ने कहा कि महामारी से सीखा पहला और सबसे महत्वपूर्ण सबक बहुपक्षवाद का महत्व है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ‘हम एक वैश्विक गांव हैं और अलग-अलग नहीं रह सकते’।

शाहिद ने कहा, ‘हमें इन वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए अपने प्रयासों को एकजुट करने की जरूरत है। शुरू में महामारी का सामना करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय का एक साथ आना सराहनीय रहा।’

शाहिद ने कोरोना वैक्सीन मुहैया कराने पर भारत की कोशिशों को सराहते हुए कहा कि भारत ने बहुपक्षवाद और एक वैश्विक गांव को कैसे काम करना चाहिए, इसका एक उदाहरण बनकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को उम्मीद दी है … भारत ने अपने हाथ और दिल खोल दिए हैं, यह सराहनीय और अनुकरणीय है।